Categories Breaking NewsIndia

2 रुपए सस्ता होगा पेट्रोल-डीजल, सरकार ने घटाई एक्साइज ड्यूटी

आज रात 12 बजे से पेट्रोल और डीजल के दाम कम हो जाएंगे। सरकार इस पर लगने वाली एक्साइज ड्यूटी कम करने जा रही है।
  • 2 रुपए सस्ता होगा पेट्रोल-डीजल, सरकार ने घटाई एक्साइज ड्यूटी, national news in hindi, national news

    पिछले दिनों मुंबई में पेट्रोल की कीमत 80 रुपए पहुंच गई थी। -फाइल
    नई दिल्ली.आज रात 12 बजे से पेट्रोल और डीजल के दाम 2 रुपए तक कम हो जाएंगे। सरकार इस पर लगने वाली बेसिक एक्साइज ड्यूटी घटा दी है। बता दें कि 16 जून से सरकार ने डायनमिक फ्यूल प्राइस का फॉर्मूला अपनाया था, जिसमें डेली बेसिस पर पेट्रोल और डीजल की कीमते रिव्यू हो रही हैं। यह फैसला लागू होने के बाद से 1 जुलाई के बाद दिल्ली में पेट्रोल की कीमतें 7.29 रुपए प्रति लीटर तक बढ़ चुकी हैं। दिल्ली में पेट्रोल की कीमतें बढ़कर 70.38 रुपए प्रति लीटर हो गई हैं। इससे पहले अगस्त 2014 में दिल्ली में पेट्रोल महंगा होकर 70.33 रुपए प्रति लीटर पहुंच गया था। इसी तरह से डीजल की कीमतों में 1 जुलाई के बाद से 5.36 रुपए प्रति लीटर तक की बढ़ोत्तरी हुई है।

    पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने की 3 वजह
    – सरकार के मुताबिक, अमेरिका में हार्वे-इरमा तूफान से क्रूड प्रोडक्शन पर असर पड़ा। इसलिए क्रूड के दाम 15% तक बढ़ गए।
    – हाल के दिनों में इंटरनेशनल मार्केट में पेट्रोल 18% और डीजल 20% महंगा हुआ है।
    – सितंबर में भारतीय बास्केट क्रूड के दाम 171 रुपए प्रति बैरल यानी 5% बढ़ गए हैं।
    और सच ये है… 4 महीने में सरकार ने 1.15 लाख करोड़ रुपए वसूले
    1. क्रूड ऑयल:तीन साल में 46% तक सस्ता हो चुका है क्रूड ऑयल
    – पेट्रोल-डीजल की कीमतें तीन साल में सबसे ज्यादा हो चुकी हैं। पर इस दौरान क्रूड ऑयल का भारतीय बास्केट 46% से ज्यादा सस्ता हो चुका है। अगस्त 2014 में क्रूड 6291.91 रु. बैरल था, जो अब घटकर 3392.90 रु. हो चुका है। एक बैरल 159 लीटर के बराबर होता है।
    2. लेकिन सरकार… पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 126% और डीजल पर 387% तक बढ़ा चुकी है
    @पेट्रोल:अगस्त 2014 में एक्साइज ड्यूटी 9.48 रुपए थी। अब 21.48 रुपए प्रति लीटर है। यानी 126% की बढ़त हुई है।
    @डीजल:अगस्त 2014 में 3.56 रुपए थी। अब 17.33 रुपए प्रति लीटर है। यानी इसमें 387% का इजाफा हो चुका है।
    – 73 हजार करोड़ रुपए चार महीने में केंद्र ने एक्साइज ड्यूटी से वसूले।
    – 42 हजार करोड़ रुपए राज्यों ने वैट से वसूले। दोनों मिलाकर 1.15 लाख करोड़।

About the author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *