Categories India

हिंसा में हाथ, राम रहीम से रिश्ते, कितने मददगार? हनीप्रीत से पूछे गए ये सवाल

हनीप्रीत की हकीकत जमीन पर आ चुकी है. उसे अब बताना है कि पंचकूला हिंसा की हकीकत क्या है. राम रहीम के गुनाहों की हकीकत क्या है. 38 दिन तक उसे बचाने वालों की हकीकत क्या है. इसके लिए मंगलवार की शाम से महिला पुलिस अफसरों की टीम हनीप्रीत से सवाल-जवाब कर रही है. चंडीगढ़ के चंडी मंदिर थाने आईजी ममता सिंह के साथ 3 महिला पुलिस अफसर और एक पुरुष अफसर की मौजूदगी में हनीप्रीत से सवाल-जवाब का सिलसिला शुरू हो चुका है.

हनीप्रीत से पूछे गए ये सवाल

पिछले 38 दिन से वो कहां छिपी थी?

25 अगस्त को रोहतक की सुनारिया जेल से लौटने के बाद वो कहां गई?

25 अगस्त की रात से लेकर 3 अक्टूबर तक वो कहां-कहां गई?

इस दौरान किस-किस ने उसकी मदद की थी?

डेरा समर्थकों की हिंसा में उसकी क्या भूमिका थी?

क्या राम रहीम को जेल पहुंचने से पहले ही भगाने की योजना थी?

राम रहीम को भगाने के लिए क्या योजना बनाई गई थी?

हनीप्रीत से सवाल हुआ कि 25 अगस्त को इतने हजारों डेरा समर्थक क्यों जुटे थे?

डेरा समर्थकों को किसने और किसलिए बुलाया था?

अबतक फरार चल रहे आदित्य इंसां और पवन इंसा के बारे में हनीप्रीत को क्या जानकारी है?

इन सवालों के मिले जवाब

हनीप्रीत 25 अगस्त से ही आदित्य, पवन, रोहताश के संपर्क में थी.

इन सभी से उसकी व्हाट्सऐप पर बात होती थी.

कहीं भी सिंपल कॉलिंग का इस्तेमाल नहीं किया.

हनीप्रीत के पास इंटरनेशनल नंबर थे.

राम रहीम के सारे गुनाहों के राज!

हनीप्रीत से सवाल-जवाब का सिलसिला मंगलवार की देर रात तक जारी रहा. इसके बाद हनीप्रीत ने रात थाने के हवालात में ही काटी. इन सवालों का जवाब देने से हनीप्रीत अभी बच रही है. उनके जवाब हासिल करने के लिए पुलिस आज दोपहर हनीप्रीत को पंचकूला कोर्ट में पेश करेगी. हनीप्रीत की रिमांड हासिल करेगी. क्योंकि हनीप्रीत के सीने में राम रहीम के सारे गुनाहों के राज दफ्न हैं. उसके पास ही पिछले 38 दिन तक उसे बचाने वाले हमदर्दों के राज भी हैं.

राम रहीम के साथ पाक हैं रिश्ते!

इससे पहले राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद से फरार चल रही राम रहीम की हनीप्रीत ने 38 दिनों बाद आजतक को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कहा था कि उसे जिस तरह दिखाया जा रहा है, उसके बाद उसे खुद से डर लगने लगा है. उसे देशद्रोही कहा गया, जो गलत है. पापा के साथ उसके रिश्ते पाक हैं. उसने कहा, ‘मुझे समझ में नहीं आता है कि बाप-बेटी के पवित्र रिश्ते को उछाला गया. मेरे डर का कारण भी यही था कि मुझे कैसे प्रेजेंट किया गया.

डिप्रेशन में चली गई थी हनीप्रीत!

हनीप्रीत ने कहा था कि राम रहीम के जेल जाने के बाद वह डिप्रेशन में चली गई थी. उसे कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि वह क्या करे. उसे लोगों ने जैसा बताया उसने वही किया. उसे कोर्ट पर पूरा भरोसा है. वह न्याय के लिए हरियाणा-पंजाब हाईकोर्ट जाएगी. हनीप्रीत के इस बयान के बाद से ही कयास लगाए जा रहे थे कि वह हाईकोर्ट में सरेंडर कर देगी. लेकिन इससे पहले मुस्तैद पुलिस ने उसे धर-दबोचा है. उसे पंचकूला ले जाया जा रहा है.

About the author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *