Categories Breaking NewsChhattisgarhPoliticsखरसिया

आखिर क्यों मांग रहे थे आरोपी कमल गर्ग से 10 लाख रुपया ? ,खरसिया नगर पालिका अध्यक्ष कमल गर्ग का  भयादोहन करने वाले दो फरार युवक गिरफ्तार आरोपी युवको ने 10 लाख की थी माँग 

आखिर क्यों मांग रहे थे आरोपी कमल गर्ग से 10 लाख रुपया ?

रायगढ़ 7 नवम्बर  नगर पालिका परिषद खरसिया के अध्यक्ष कमल गर्ग द्वारा 26.08.17 को लिखित शिकयत अनुविभागीय अधिकारी पुलिस खरसिया के कार्यालय में देकर बताया की एक  स्विफ्ट कार क्रमांक CG 13 C 8714 मे आये  शेखर डनसेना निवासी बरभौना व उसके साथियों द्वारा 10 लाख रूपये की मांग की गई और उक्त रकम नही देने पर  मोबाईल पर सामाजिक रूप से बदनाम करने की धमकी दे रहे है । शिकायतकर्ता कमल गर्ग  ने बताया कि करीब पिछले  1 माह से किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा मोबाइल पर कॉल कर  सामाजिक रुप से बदनाम करने की धमकी दे रहा था कि दि. 25.08.17 के दोपहर में उसी व्यक्ति द्वारा इनके मोबाईल पर काल कर पुनः  धमकी दिया कि आज मुझे रूपया नहीं दोगे तो अच्छा नहीं होगा, आप अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहें और अज्ञात व्यक्ति ने रूपया लेकर रायगढ़ चौक की तरफ बुलाया और डभरा रोड पर अंजोरीपाली के पास सड़क किनारे पेड़ के पास बैग रख छोड़कर जाने के लिये बोला , अज्ञात व्यक्ति के बताये स्थान पर कमल गर्ग बैग छोड़कर अज्ञात व्यक्तियों की पहचान के लिये अंधेरा होने तक छिपकर बैग पर निगाह रखे हुये थे कि अंधेरा होते ही एक सिफ्ट कार नंबर CG 13 C 8714 में से एक लड़का बैग लेने उतरा जो बरभौना का शेखर डनसेना था उसके दो साथी गाड़ी से और उतरे एक अंदर था । जिसके बाद कमल गर्ग द्वारा शेखर डनसेना के विरूद्ध कार्यवाही के लिये आवेदन दिया गया था जिस पर थाना खरसिया में अप.क्र. 357/17 धारा 384 385, 34 ता.हि. का अपराध शेखर डनसेना व अन्य के विरूद्ध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया । विवेचना दरम्यान संदेही इंदर झरिया निवासी बरभौना को गिरफ्तार कर  पूछताछ करने पर अपने साथी शेखरचंद्र डनसेना और पीताम्बर डनसेना निवासी बरभौना के साथ घटना कारित करना स्वीकार किया । अपराध कायमी के बाद से ही आरोपी शेखर और पीताम्बर गिरफ्तार के भय से फरार थे, जिन्हें आज दिनांक 07.11.17 को चौकी खरसिया स्टाफ द्वारा आरोपी  शेखर चंद्र डनसेना पिता गंगाराम डनसेना उम्र 23 वर्ष  पीताम्बर डनसेना पिता धनसिंह डनसेना उम्र 18 वर्ष दोनों निवासी बरभौना थाना छाल को गिरफ्तार कर ज्युडिशियल रिमांड पर भेजा गया है।

About the author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *