Categories Breaking NewsChhattisgarh

बीजेपी का ब्रह्मास्त्र बनेगा व्हाट्सऐप, बूथ स्तर पर लोगों से जुड़ने की तैयारी

रायपुर।  सोशल मीडिया के इस्तेमाल में आगे रहने वाली बीजेपी छत्तीसगढ़ में 2018 में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में व्हाट्सऐप को हथियार बनाएगी.

पार्टी की आईटी सेल ने अपनी रिसर्च में पाया है कि फेसबुक की बजाए व्हाट्सऐप की घर घर तक पहुंच हो है. लिहाजा, बूथ स्तर तक के वोटरों का डाटाबेस तैयार कर पार्टी ने व्हाट्सएप के जरिए उन तक अपनी बात पहुंचाने की तैयारी की है.

 

छत्तीसगढ़ में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी के लिए इस बार सबसे बड़ा सोशल मीडिया टूल व्हाट्सऐप ही होगा. इसके लिए भाजपा ने बूथ स्तर के वोटरों के मोबाइल फोन नंबरों का डाटा तैयार कर सीधे उन तक पहुंचने की तैयार कर ली है.

 

बीजेपी में 29 संगठन जिले और 408 मंडल हैं. मंडल से नीचे 4-5 बूथ को मिलाकर करीब साढ़े 5 हजार शक्तिकेंद्र तैयार किए गए हैं. आईटी सेल जो मीडिया कंटेंट तैयार करेगा, वह जिला, मंडल और शक्ति केंद्र अध्यक्षों तक सीधे पहुंच जाएगा.

 

शक्ति केंद्र प्रभारी को अपने नीचे कम से कम डेढ़ सौ लोगों तक उस संदेश को पहुंचाने का जिम्मा दिया गया है. इस तरह, ये मैसेज करीब साढ़े 8 लाख वोटर तक पहुंच जाएगा.

 

आईटी सेल ने कंटेंट के इफेक्ट और ऑडिएंस के मूड पर भी खासी स्टडी की है। स्टडी बताती है कि शहरी क्षेत्र में लोग व्हाट्सऐप कंटेट को लेकर उबने लगे हैं. जबकि गांवों में तस्वीर बिल्कुल उलट है. वहां व्हाट्सऐप कंटेट गहरी रुचि के साथ पढ़े जा रहे हैं.

 

लिहाजा, आईटी सेल शहरी क्षेत्र के वोटर के लिए शॉर्ट, इफेक्टिव और बैलेंस्ड कंटेंट तैयार करेगी. जबकि ग्रामीण क्षेत्र के वोटर के लिए थोड़े आक्रामक, डिटेल्ड और कैची मैसेज तैयार करने की रणनीति बनाई गई है. हालांकि, ये कवायद कितनी कामयाब रही. इसका पता तो चुनाव के नतीजों से ही चलेगा.

About the author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *