Categories Breaking NewsChhattisgarhखरसिया

बैट्री चोर गिरफ्तार, 30 नग बैट्री बरामद…

…..

थाना भूपदेवपुर अन्तर्गत सलिहाभांठा में लगे एयरटेल टावर की बैटरियों को चोरी कर पिकअप वाहन में लोड करते हुये एक व्यक्ति को कम्पनी के टेकनिशियन द्वारा मौके पर जाकर पकड़ा और सूचना थाना भूपदेवपुर को दिया, मौके पर भूपदेवपुर पुलिस ने करीब 3 लाख रूपये से अधिक कीमतों के 30 नग बैटरी व पीकअप वाहन जप्त किये है । गिरफ्तार आरोपी के अन्य दो साथी फरार है, जिनकी पतासाजी की जा रही है ।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रायगढ़ के ग्राम सलिहाभांठा, मुरा, बासनपाली, टुन्ट्री, एन्थेना, धुरकोट, उचपिन्डा में लगे एयरटेल टावरो की देखरेख का काम कम्पनी से नियुक्त रामायण बरेठ पिता बाबूलाल बरेठ उम्र 30 वर्ष निवासी चिरमीरी थाना बड़ा बाजार जिला कोरिया हाल मुकाम ग्राम टुन्ड्री थाना डभरा द्वारा किया जा रहा है । दिनांक 07.11.17 के शाम करीब 06:10 बजे रायपुर हेड क्वाटर से रामायण बरेठ को फोन से बताया गया कि सलिहाभांठा साईड का टावर डाउन हो गया है तब रामायण तुरन्त अपने बाईक से साईड सलिहाभांठा गया, जहां देखा कि एयरटेल टावर के बाहर एक सफेद रंग की वीप्टा कार खडी थी एक उसके पिछे तरफ एक पीकअप वाहन क्र. सी. जी. 13 डी 4290 खडी थी, जहां पूर्व में एयरटेल कम्पनी में टेकनिशियन का काम करने वाला रजनीश कुशवाहा एवं उसके साथ दो व्यक्ति सेल्टर का तांबा तोड कर बैटरी चोरी कर पीकप में लोड कर रहे थे, रामायण बरेठ को देखकर रजनीश कुशवाहा तथा एक व्यक्ति विक्टा कार में भाग गये, तीसरा व्यक्ति पीकअप वाहन के पास खड़ा मिला जिसने अपना नाम विष्णु साहू पिता दशरथ साहू उम्र 31 वर्ष निवासी ढिमरापुर चौक थाना कोतवालर रायगढ़ बताया तथा पीकअप वाहन स्वयं की होना बताया। रामाधर बरेठ ने घटना की सूचना थाना भूपदेवपुर में दिया, सूचना पर थाने से सउनि राजानंद यादव के हमराह स्टाफ रवाना होकर घटनास्थल पहुंचे, विष्णु साहू ने बैटरी चिल्लर से 24 नग 300AH बैटरी एवं सेन्टर से 600AH के 06 नग बैटरी कुल 30 नग बैटरी पीकअप वाहन में लोडकर रखना बताया, जिसकी जप्ती वाहन समेत की गई है, जप्त बैटरी की अनुमानित कीमत 03 लाख 50 हजार रूपये है । घटना के संबंध में रामायण बरेठ की रिपोर्ट पर रजनीश कुशवाहा, विष्णु साहू व एक अन्य के विरूद्ध अप.क्र. 133/17 धारा 457, 380 भादंवि दर्ज कर विवेचना में लिया गया है तथा गिरफ्तार आरोपी विष्णु साहू को न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया ।

About the author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *