Categories Breaking NewsBUSSINESSIndia

खुशखबरी : पटना, रांची और रायपुर एयरपोर्ट से शुरू होगी 24 घंटे विमान सेवा

नई दिल्ली। बिहार, झारखंड, असम और छत्तीसगढ़ के लोगों के लिए खुशखबरी है। अप्रैल 2018 से पटना, रांची, रायपुर और गुवाहाटी हवाई अड्डों से विमानों का संचालन 24 घंटे किया जाएगा। इन एयरपोर्ट पर विमान देर रात तक लैंड करने के अलावा उड़ान भी भर सकेंगे। सरकार ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एएआइ) के अध्यक्ष गुरुप्रसाद मोहपात्रा ने बताया कि चौबीसों घंटे संचालन के लिए चारों हवाई अड्डों पर सभी जरूरी सुविधाएं पहले से ही मौजूद हैं। एएआइ के प्रमुख ने कहा कि कम ट्रैफिक के कारण इन हवाई अड्डों से विमानों का संचालन सीमित था, लेकिन अब चारों एयरपोर्ट पर यात्रियों की तादाद में जबरदस्त वृद्धि दर्ज की गई है। इसे देखते हुए यह फैसला लिया गया है। विमानन कंपनियों ने भी रुचि दिखाई है। मोहपात्रा ने बताया कि इसके लिए चारों हवाई अड्डों पर कर्मचारियों की तादाद बढ़ानी पड़ेगी।

देश में 125 हवाई अड्डे संचालित करता है AAI-

मौजूदा समय में एएआइ के अंदर 125 हवाई अड्डे आते हैं, जिनमें से 30 फीसद चौबीसों घंटे संचालित होते हैं। चेन्नई में दूसरा एयरपोर्ट विकसित करने की योजना चेन्नई में यात्रियों की बढ़ती तादाद को देखते हुए केंद्र यहां दूसरा हवाई अड्डा विकसित करना चाहता है। इसके लिए तमिलनाडु सरकार से बातचीत चल रही है।

मोहपात्रा ने बताया कि 2030-2035 तक महानगर को दूसरे हवाई अड्डे की जरूरत पड़ेगी। नागरिक उड्डयन सचिव आरएन चौबे और एएआइ के अधिकारी राज्य सरकार के साथ इस मसले पर पिछले तीन महीनों में दो बैठकें कर चुके हैं। इसके साथ ही सरकार जयपुर और अहमदाबाद एयरपोर्ट के संचालन और रखरखाव की जिम्मेदारी निजी हाथों में देने के लिए नया टेंडर लाएगी।

रिमोट एटीसी से कंट्रोल होगा एयर ट्रैफिक-

आधुनिक रिमोट एटीसी अगले साल तक देश को पहला रिमोट एयर ट्रैफिक कंट्रोल टॉवर दिसंबर, 2018 तक मिल जाएगा। मोहपात्रा ने बताया कि अहमदाबाद हवाई अड्डे पर पहला अत्याधुनिक टॉवर अगले साल के अंत तक काम करना शुरू कर देगा। इसकी मदद से एक साथ विभिन्न हवाई पट्टियों पर विमानों की गतिविधियों को संभाला जा सकेगा। रिमोट और वर्चुअल टॉवर की मदद से दूसरे स्थानों से विमानों के संचालन को संचालित किया जा सकेगा।

About the author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *