Categories Breaking NewsChhattisgarhPolitics

रेणु जोगी ने दिया पीसीसी को करारा जवाब

कांग्रेस पार्टी में इन दिनों जवाब सवाल का सिलसिला जारी है कांग्रेस की उपनेता प्रतिपक्ष रेणु जोगी को पीसीसी से नोटिस भेजी गयी थी जिसका उन्होंने आज  जवाब दिया है. रेणु जोगी ने महामंत्री गिरीश देवांगन को लिखे पत्र में नोटिस भेजे जाने पर आश्चर्य जताते हुए पीसीसी को आडे हाथों लिया उन्होंने लिखा है की क्या केवल पति के बगल में बैठने और त्यौहार के दिन सपरिवार साथ रहने के कारण मुझे यह नोटिस दिया जाना सही है ?कई बार एक परिवार के सदस्य अलग-अलग राजनीतिक विचारधारा से भी जुड़े होते हैं. इसका मतलबव यह नहीं कि वे पारिवारिक कार्यक्रमों में एक साथ कहीं आ जा नहीं सकते.साथ ही
उन्होंने लिखा है कि ये भारत का और राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी का लोकतंत्र है जो एक महिला को उसका पत्नी धर्म और पारिवारिक जिम्मेदारियों का निर्वाहन करने से न संविधान रोकता है और न ही कोई राजनीतिक दल बंदिश लगाता है.उन्होंने स्पष्ट किया है  कि वे नवाखाई का त्यौहार मनाने अपने परिवार के साथ जोगीसार गांव गई थीं. जहाँ वे  पिछले कई वर्षों से जा रही है और परम्परा  अनुसार वे अपने खास  मित्रों एवं ग्रामवासियों के साथ अपने खेत का पहला अनाज परिवार के इष्ट देवता जोगी बाबा  को अर्पित कर भोग लगाती है . यह एक निजी धार्मिक और परंपरागत त्यौहार है जो घर के आंगन में मंच बनाकर संपन्न हुआ था. इस कार्यक्रम के तहत न मैं किसी अन्य दल की यात्रा में शामिल हुईं, न मैंने किसी अन्य दल के मंच से भाषण दिया और न ही मैंने अपनी पार्टी के विरुद्ध कहीं भी कुछ भी आपत्तिजनक टिप्पणी की. उन्होंने लिखा यह सच है कि मैंने इस नवाखाई  कार्यक्रम में पधारे सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए व्यक्तिगत तौर पर आभार व्यक्त किया था. और साथ रेणु जोगी ने इस बात का भी उल्लेख किया है की  टीएस सिंहदेव नेता प्रतिपक्ष के कार्यालय से मुझे 04.11.2017 को पीएल पुनिया, महासचिव अखिल भारतीय कांग्रेस पार्टी द्वारा विधायक दल की बैठक लिए जाने की सूचना मिली थी किन्तु मैंने नवाखाई के कार्यक्रम की जानकारी देते हुए अपनी असमर्थता प्रगट की थी

About the author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *