Categories Breaking Newsछत्तीसगढ़

मतदान में लगे अधिकारियों व कर्मचारियों को वोट देने मिलेगें डाक मतपत्र

रायपुर छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में कार्य करने वाले हर अधिकारी व कर्मचारी को भारत निर्वाचन आयोग ने डाक मतपत्र की सुविधा दी है। इसके अंतर्गत अधिकारी,कर्मचारियों के साथ ही निर्वाचन कार्य में लगे पुलिस,होमगार्ड सहित चुनाव कार्य में लगे निजी क्षेत्र के ड्रॉईवर,हेल्पर भी डाक मतपत्र के माध्यम से अपना मतदान कर सकेगें। कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. बसवराजु एस. ने बताया कि कलेक्टोरेट कार्यालय परिसर में उप संचालक कृषि कार्यालय में डाक मतपत्र का केंद्र शुरु किया गया है। निर्वाचन डयूटी में लगे अधिकारी और कर्मचारी यहां आवेदन कर डाक मतपत्र प्राप्त कर सकते हैं। डाक मतपत्र गुलाबी रंग के होंगे।

निर्वाचन कार्य के डाक मतपत्र की नोडल अधिकारी व डिप्टी कलेक्टर अनुप्रिया मिश्रा ने बताया कि निर्वाचन कार्य में लगे सभी अधिकारियों को प्रशिक्षण के दौरान संबंधित प्रशिक्षण केन्द्र में ही प्रारुप 12 में डाक मतपत्र के लिए आवेदन दिए जा रहे हैं ताकि वे उसे भर कर जमा करें, जिससे उन्हें डाकपत्र दिया जा सके। उन्होंने बताया कि डयूटी में तैनात मतदाता का आशय ऐसे व्यक्ति से है जो पीठासीन अधिकारी,मतदान अधिकारी, सुरक्षा कर्मी, जिनमें पुलिस व होमगार्ड या अन्य कोई सरकारी कर्मचारी जो निर्वाचन क्षेत्र का मतदाता है तथा निर्वाचन डयूटी में होने के कारण वह उस मतदान केन्द्र में जहां वह मत देने का हकदार है किन्तु मत देने में असमर्थ है।

वहीं भारत निर्वाचन आयोग के नियुक्त किए गए प्रेक्षक और उनके साथ रहने वाले स्टॉफ सदस्य भी निर्वाचन डयूटी में तैनात मतदाता है। इसी प्रकार निर्वाचन कार्य में लगे ड्रॉइवर,हेल्पर, सफाई कार्य करने वालो को भी निर्वाचन डयूटी में तैनात मतदाता माना जाता है और उन्हें डाक से मतदान देने की सुविधा है। उन्होंने बताया कि अभी आवेदन लिए जा रहे हैं प्रत्याशियों के नाम वापसी के बाद डाक मतपत्र तैयार होगें और 24 घंटे में मतदाताओं को उपलब्ध करा दिए जाएंगे।

यह भी पढ़ें : सोशल मीडिया पर कर रहे थे प्रचार, निर्वाचन आयोग का 3 प्रत्याशियों को नोटिस

नोडल अधिकारी ने बताया कि भारतीय सेना में कार्यरत सैनिकों को वर्गीकृत सेवा मतदाता की श्रेणी में वोट देने के लिए ऑनलाइन सुविधा भी भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दी गई है। साथ ही वे सर्विस मतदाता के रुप में डाक मतपत्र से भी अपना मतदान कर सकते हैं। ऐसे मतदाताओं के नाम निर्वाचन नामावली के अंतिम भाग में होते हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी के पास सेवारत सैनिकों की सूची उपलब्ध हैं। इसके लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा एक वेबसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट ईटीपीबीएस डॉट इन संचालित हो रही है। जिन सैनिकों ने परोक्ष मतदान का विकल्प चुना हो वह वर्गीकृत मतदाता कहलाता है। लेकिन जिन मतदाताओं ने परोक्ष मतदान का विकल्प नहीं चुना है वे अपने मतदानकेंद्र में ही मतदान कर सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *