Raipur crime News: पांच से अधिक हत्याकांड का राज फाइलों में दफन, सूनसान इलाके आरोपितों के लिए महफूज

Raipur crime News: पांच से अधिक हत्याकांड का राज फाइलों में दफन, सूनसान इलाके आरोपितों के लिए महफूज

Raipur crime News: पांच से अधिक हत्याकांड का राज फाइलों में दफन, सूनसान इलाके आरोपितों के लिए महफूज
राजधानी रायपुर में पांच से अधिक हत्याकांड की गुत्थी काफी हाथ-पांव मारने के बाद भी अनसुलझी है।

 

 

रायपुर Raipur News: राजधानी रायपुर के डीडीनगर इलाके में एक खाली प्लाट में युवक की चाकू गोदकर हत्या कर लाश जलाने की गुत्थी पुलिस ने भले ही छह घंटे के भीतर सुलझा ली, लेकिन पांच से अधिक हत्याकांड की गुत्थी काफी हाथ-पांव मारने के बाद भी अनसुलझी है। सूनसान इलाके आरोपितों के लिए महफूज हैं। पिछले साल काठाडीह रोड पर केसरी बगीचा के पास नाले में बंद बोरे में एक महिला की सड़ी-गली लाश मिली थी, जिसकी शिनाख्त नहीं हो पाई। दो साल पहले काठाडीह रोड पर ही झाड़ियों के बीच मिली युवक की अधजली लाश की भी शिनाख्त करने में पुलिस को सफलता नहीं मिली। माना बस्ती में नहर के पास खून से सनी एक अज्ञात युवती की लाश की गुत्थी भी जांच में उलझकर रह गई है। युवती के साथ दुष्कर्म कर हत्या की पुष्टि हुई थी।

रायपुर के तीन पुलिस थाना डीडीनगर, पुरानी बस्ती और सेजबहार इलाके में भाठागांव-काठाडीह-कांदुल रोड पर पिछले कुछ सालों के भीतर आधा दर्जन से अधिक हत्याकांड हुए। अधिकांश हत्याकांड में मृतक की पहचान नहीं हो पाई। लिहाजा पुलिस की जांच ही अटक गई। यह इलाका शाम के बाद सूनसान हो जाता है, लिहाजा शातिर आरोपित लाश को ठिकाने लगाने के लिए इसी इलाके को चुनते हैं। रायपुर की बहुचर्चित छछानपैरी, पंकज बोथरा और सेरीखेड़ी हत्याकांड चार साल बाद भी नहीं सुलझ पाए। वहीं गुढ़ियारी, माना इलाके अंधे कत्ल के तीन मामले पहले से लंबित हैं। गुढ़ियारी में बंद मकान में युवक की रक्तरंजित लाश मिलने का केस भी नहीं सुलझ पाया है।

 

छछानपैरी हत्याकांड

शहर से लगे छछानपैरी गांव में 9-10 जून 2016 की रात को अज्ञात लोगों ने कांग्रेस सरकार में मंत्री शिव डहरिया की मां गोदावरी देवी की हत्या और पिता आसाराम पर जानलेवा हमला किया था। इस हत्याकांड का राज अब तक नहीं खुल सका है।

इन्वेस्टिगेशन-35 पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों के साथ एसआइटी बनाकर जांच की गई। घर के करीबी सदस्यों पर शक जताकर पालीग्राफी टेस्ट तक कराया गया, लेकिन आरोपित का कोई पता नहीं चला।

बोथरा हत्याकांड

जून 2016 में भैरव नगर सोसायटी में ज्वेलरी व्यवसायी पंकज बोथरा पर दो शूटरों ने गोली चलाकर जेवरात लूटे थे। मौके पर ही पंकज की मौत हो गई। इस मामले में आज तक पुलिस को सुराग नहीं मिला है।

इन्वेस्टिगेशन : टिकरापारा और क्राइम ब्रांच की संयुक्त रूप से स्पेशल जांच टीम बनाकर छानबीन शुरू की गई। ज्वेलरी मार्केट से कारोबारी का लेनदेन टटोला गया। सुपारी किलिंग के शक में जांच शुरू की, लेकिन नतीजा नहीं निकला।

सेरीखेड़ी गोलीकांड

मंदिर हसौद थानांतर्गत सेरीखेड़ी में 23 अक्टूबर 2016 को आकाश नामक युवक की गोली मारकर हत्या की गई। आकाश अपनी परिचित युवती के साथ वहां गया था। घटना के बाद खमतराई निवासी युवती ने आत्महत्या कर ली, जिससे एकमात्र चश्मदीद भी नहीं रही।

इन्वेस्टिगेशन : अज्ञात शूटर की पहचान के लिए राहगीरों से पूछताछ तक कार्रवाई सिमटी रही। युवती का बयान लेने पर उसने शूटर को नहीं पहचानने की बात कही थी। युवती द्वारा आत्महत्या कर लेने बाद पुलिस की जांच आगे नहीं बढ़ पाई।