सबको रुला गया 23 वर्षीय बिट्टू गुप्ता सारी पापा, रानी का स्टेटस लगाकर किया आत्महत्या।

जब कानून खुद के हाथों में लेना है तो किस लिए बनाया गया है कानून जहा आरोप सिद्ध होने से पहले किया जा रहा था प्रताड़ित……..?

23 वर्षीय व्यवसायिक युवक ने फेसबुक स्टेटस पर आरोप लगाकर किया आत्महत्या।

युवक ने पड़ोसी दुकानदार और उसके परिवार को आत्महत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया।

युवक की 6 दिन बाद 18 फरवरी को थी शादी परिवार की खुशिया बदली गम में।

3 दिन पूर्व युवक के पड़ोस के दुकान में लगी थी आग जिससे खुद को प्रताड़ित करना बताया आत्महत्या को कारण।

युवक ने आत्महत्या करने से पहले फेसबुक स्टेटस में लिखा भावुक पोस्ट सारी पापा और रानी।

मोहन प्रताप सिंह

सूरजपुर/जरही:– नगर पंचायत जरही निवासी एक युवक ने सोमवार की सुबह डुमरिया बांध में कूदककर आत्महत्या कर लिया। घटना के पूर्व युवक ने फेसबुक स्टेटस के माध्यम से आत्महत्या का जिम्मेदार युवक के द्वारा पड़ोसी दुकानदार एवं उसके परिवार को बताया है। घटना से आक्रोशित परिजनों ने जरही चौक में शव को रखकर अंबिकापुर-बनारस मुख्यमार्ग में चक्काजाम कर दिया है। बताया जा रहा है की युवक के पड़ोस में स्थित दुकान हिमांशु क्लॉथ स्टोर में तीन दिन पहले आग लग गई थी इसके बाद युवक एवं परिजनों पर आशंका व्यक्त करते हुए पड़ोसियों के द्वारा उन पर एफआईआर करने का दबाव बनाया जा रहा था जिससे युवक काफी क्षुब्ध था और अपने आप को अपमानित महसूस कर रहा था।

थाना भटगांव क्षेत्र अंतर्गत नगर पंचायत जरही के अंबिकापुर मुख्यमार्ग में संचालित विक्की क्लॉथ स्टोर्स के संचालक बिट्टू गुप्ता उम्र 23 वर्ष सुबह अपनी बुलेट बाइक से डुमरिया डेम पहुंचा और अपनी जैकेट व मोबाइल को बांध किनारे रखकर डेम में कूद गया। मौके पर टहल रहे लोगों ने उसे डेम में कूदते देख घटना की सूचना परिजनों को दी। सूचना पर परिजनो सहित भटगांव थाना पुलिस मौके पर पहुंची। स्थानीय लोगों की मदद से पुलिस के मौजूदगी में बिट्टू गुप्ता को बाहर निकाला गया तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। घटनास्थल पर ही परिवार के द्वारा करीबन 3 घंटे तक रुकने के बाद पुलिस प्रशासन के द्वारा संतोषजनक कार्रवाई न करने के कारण पुलिस और परिजनों के बीच शव उठाने को लेकर विवाद की स्थिति निर्मित हो गई थी। नाराज परिजनों ने युवक के शव को कार में रखकर डुमरिया बांध से जरही चौक पहुंचे और शव को सड़क पर रखकर अंबिकापुर-बनारस मुख्यमार्ग को चक्काजाम कर दिया। परिजनों ने युवक को आत्महत्या के लिए मजबूर करने वाले लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग को की वही सूचना पर प्रतापपुर एसडीएम दीपिका नेताम, एएसपी सूरजपुर शोभराज अग्रवाल ने मौके पर पहुंच समझाइश देने की कोशिश की लेकिन परिवार अपनी मांग पर अड़े रहे।

बिट्टू गुप्ता ने सुबह अपने फेसबुक स्टेट्स पर पोस्ट भी लिखा है जिसमें उसने पड़ोस के हिमांशु क्लॉथ स्टोर के संचालक परिवार को अपनी आत्महत्या के लिए जिम्मेदार बताया है। तीन दिन पहले हिमांशु क्लॉथ स्टोर में आग लग गई थी। इसकी जांच भटगांव पुलिस व डॉग स्क्वायड ने की थी। आगजनी के लिए बिट्टू गुप्ता एवं परिवार के सदस्यों को दोषी मानकर उनके खिलाफ एफआईआर करने दबाव डाला जा रहा था। इससे बिट्टू गुप्ता क्षुब्ध था और प्रताड़ित महसूस कर रहा था वही स्थानीय थाना भटगांव में आगजनी को लेकर जरही व्यापार संघ द्वारा तुलसी गुप्ता, बिट्टू गुप्ता के परिजनों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहा था और रविवार दोपहर बड़ी संख्या में जरही व्यापारिक का दल भटगांव थाना पहुंच घटना में संलिप्त व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई थी और कार्रवाई नहीं किए जाने पर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठने की चेतावनी भी दी थी। इसके बाद पुलिस ने बिट्टू गुप्ता व परिजनों को पूछताछ के लिए थाने बुलाया था एवं रात नौ बजे छोड़ा था।

युवक ने आत्महत्या से पहले फेसबुक पर लगाया स्टेट्स नोट

चंडकी गुप्ता जरही मां दुर्गा वस्त्रालय इसे नीच इंसान आज तक अपनी लाईफ में नहीं देखा मैंने इस इंसान को कभी कोई इज्जत नहीं देनी चाहिए कभी-कभी जिंदगी में आयशा समय आता है कि इंसान को लगने लगता है कि अब वो कभी भी वापसी नहीं कर सकता है या कुछ लोग जो गलत आरोप लगाने लगते है लोगो पे लेकिन ये नहीं सोचते हैं उसको इस के बाद कैसा लगेगा जैसा उमेश गुप्ता, राजू गुप्ता, रेखा गुप्ता जो मेरे पे ये गलत आरोप लगाए की मै उसकी दुकान को कुछ किया हु करके जो सही नहीं है जो मुझे बहुत बुरा लगा अपने आप में और मै शायद कभी सही साबित भी नहीं कर सकता हूं मैं अपने आपको क्योंकि की मुझे फसाया जा रहा है मुझे मेरा परिवार मेरे पापा को जो मुझे बहुत बुरा लग रहा है इसलिए मैं जो भी रह रहा है इस लिए मैं जो भी करता हूं उसके लिए उमेशा गुप्ता राजू गुप्ता रेखा गुप्ता जिम्मेदार है सॉरी पापा सॉरी रानी यार मैं नहीं सह पाया यार ये अरोप अपने ऊपर इसलिए सॉरी और मेरा इस सब में कोई भी हाथ नहीं है।

एक आईपीएस के ऊपर साजिश का परिवार ने लगाया आरोप

पड़ोस में हुई आगजनी की घटना पर दूसरे जिले में पदस्थ आईपीएस के द्वारा घटनास्थल पर पहुंचकर कराई जा रही कार्रवाई को लेकर परिजनों ने आरोप लगाया कि आईपीएस के द्वारा जानबूझकर हमें फंसाने की साजिश की जा रही है वही उन्हें डर है कि इस मामले में भी उक्त आईपीएस के द्वारा हस्तक्षेप कर मेरे बच्चे को आत्महत्या के लिए प्रेरित करने के लिए प्रताड़ित किए गए लोगों को बचाने का प्रयास किया जाएगा।

6 दिन बाद 18 फरवरी को होनी थी युवक की शादी

बिट्टू गुप्ता का विवाह 18 फरवरी को अंबिकापुर के सीतापुर में होना था इसके लिए घर में तैयारी भी चल रही थीउसने फेसबुक पोस्ट में लिखा सॉरी पापा, ‘सॉरी रानी यार मैं नहीं समझ पा रहा हूं ये आरोप मेरे ऊपर लगे हैं, सॉरी।’ लिखा और आत्महत्या कर लेने के कारण परिवार की खुशियां मातम में बदल गई हैं।

वहीं स्थानीय पुलिस प्रशासन के द्वारा इस गंभीर विषय को लेकर मर्ग कायम कर जांच पड़ताल बड़े स्तर पर किया जा रहा है वही स्थानीय पुलिस प्रशासन के द्वारा पीड़ित परिवार को जल्द न्याय दिलाने की बात कही जा रही है देखने वाली बात यह होगी कि आने वाले समय में क्या पीड़ित युवक और उसके परिवार को न्याय मिलता है जिनके द्वारा युवक को प्रताड़ित किया गया है या फिर मामला विवेचना करने के बाद किस स्थिति तक पहुंचती है यह तो वक्त ही बताएगा।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *