सात घंटे के संघर्ष के बाद कोल ट्रांसपोर्ट के खिलाफ की जा रही अनिश्चित कालीन हड़ताल हुआ खत्म*

0 minutes, 1 second Read

सोनू कुमार चौधरी

सात घंटे के संघर्ष के बाद कोल ट्रांसपोर्ट के खिलाफ की जा रही अनिश्चित कालीन हड़ताल हुआ खत्म*

*कोल माइंस ड्राइवर कल्याण संघ सरगुजा छत्तीसगढ़ के आवाहन पर चेन्नई राधा इंजीनियरिंग वर्कशॉप और आरकेटीसी कोल ट्रांसपोर्ट के समस्त ड्राइवरों ने स्वेच्छा से गाड़ी खड़ा कर चक्का जाम कर किया प्रदर्शन*

*कई मांगों पर सहमति बनी वहीं अन्य मांगों को आगामी 7 दिवस के अंदर पूरी करने का दिया गया आश्वासन*

*की जा रही चक्का जाम हड़ताल को समाप्त कराने को लेकर एसईसीएल मुख्य महाप्रबंधक, अधिकारियों सहित कोल ट्रांसपोर्ट के अधिकारियों ने बहाए पसीना*

*सुरजपुर/भटगांव:–* एसईसीएल भटगांव क्षेत्र अंतर्गत कोल ट्रांसपोर्ट के रूप में कार्यरत आउटसोर्सिंग कंपनी चेन्नई राधा इंजीनियरिंग वर्कशॉप पाइवेट लिमिटेड और आरकेटीसी कंपनी मैं कार्य कर रहे वर्करों की हितों के लिए कोल माइंस ड्राइवर कल्याण संघ सरगुजा छत्तीसगढ़ के आवाहन पर मोहन प्रताप सिंह महासचिव के नेतृत्व में की जाने वाली अनिश्चितकालीन चक्का जाम कर हड़ताल लगभग 7 घंटे के अंतराल के बाद भैयाथान अनुविभागीय अधिकारी सागर सिंह, तहसीलदार शिव कुमार राठिया और स्थानीय थाना प्रभारी भटगांव राजेंद्र साहू साहू के हस्तक्षेप के बाद कई बिंदुओं पर सहमति बनने के साथ-साथ अन्य विषय पर 7 दिनों के अंदर आपस में बैठकर चर्चा कर पूरी करने का आश्वासन देने के साथ समाप्त हुई।

*कोल माइंस ड्राइवर कल्याण संघ सरगुजा छत्तीसगढ़ की 13 विंदुओ पर रही प्रमुख मांग –*

ट्रांसपोर्ट कंपनी में कार्यरत जिन जिन ड्राइवरों का 2023 से अब तक बचे वेतन का भुगतान नहीं किया गया है उनका तत्काल भुगतान किया जाए। एच.पी.सी. रेट जो कि कोल इंड़िया द्वारा निर्धारित है उसके अनुसार वेतन देने। हाई पावर कमेटी द्वारा निर्धारित समय सीमा तक कर्मचारियों से काम लिया जाए। प्रत्येक कर्मचारी के वेतन को खाते में देना। प्रत्येक कर्मचारी की मासिक वेतन पर्ची प्रदान करना। प्रत्येक कर्मचारी को ई.पी.एफ. (कर्मचारी भविष्य निधि) प्रदान करना। प्रत्येक कर्मचारी को सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराया जाए। प्रत्येक कर्मचारियों को हर महीना 5 तारीख तक वेतन भुगतान सुनिश्चित करना। ट्रांसपोर्ट कंपनी में कार्यरत सभी ड्राइवरों को पीएमई, वीटीसी यानी बोकेशनल ट्रेनिंग सेंटर का प्रमाण पत्र दिया जाए। प्रत्येक कर्मचारी का जो कंपनी खाता खुलवाकर पासबुक, एटीएम सहित अन्य दस्तावेज अपने पास रखा है उसे संबंधित सभी ड्राईवर को सौंपा जाए। आपातकालीन स्थिति, साप्ताहिक अवकाश के साथ साथ वार्षिक छुट्टी समस्त कर्मचारियों को प्रदान किया जाए। प्रत्येक कर्मचारियों को मेडिकल की निर्धारित सुविधा उपलब्ध कराई जाए। प्रत्येक कर्मचारियों को वार्षिक बोनस प्रदान किया जाए।

*कोल माइंस ड्राइवर कल्याण संघ और कोल ट्रांसपोर्ट कंपनी के बीच बनी सहमति*

ट्रांसपोर्ट कंपनी में कार्यरत जिन जिन ड्राइवरों का 2023 से अब तक बचे वेतन का भुगतान नहीं किया था उस वेतन का भुगतान कराया गया। 30 हजार रुपए मासिक वेतन दिलाने पर बनी सहमति। वर्करों के कार्यावधी पर लिया गया तत्काल फैसला। प्रत्येक कर्मचारी को ई.पी.एफ. (कर्मचारी भविष्य निधि) प्रदान करने पर बनी सहमति। प्रत्येक कर्मचारी को सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराए जाने पर बनी सहमति। प्रत्येक कर्मचारियों को हर महीना 5 तारीख तक वेतन भुगतान सुनिश्चित करने पर बनी सहमति ट्रांसपोर्ट कंपनी में कार्यरत सभी ड्राइवरों को पीएमई, वीटीसी यानी बोकेशनल ट्रेनिंग सेंटर का प्रमाण पत्र दिए जाने पर बनी सहमति। प्रत्येक कर्मचारी का जो कंपनी खाता खुलवाकर पासबुक, एटीएम सहित अन्य दस्तावेज अपने पास रखा है उसे संबंधित सभी ड्राईवर को सौंपने पर बनी सहमति। आपातकालीन स्थिति पर अवकाश दिए जाने पर बनी सहमति। प्रत्येक कर्मचारियों को 3 लाख रुपए तक का मेडिकल सुविधा उपलब्ध कराने और वार्षिक बोनस दिए जाने पर बनी सहमति।

*शासन, प्रशासन का संघ और मजदूरों को मिला सहयोग*

कोल माइंस ड्राइवर कल्याण संघ सरगुजा छत्तीसगढ़ के बैनर तले मोहन प्रताप सिंह महासचिव के नेतृत्व में की जाने वाली अनिश्चितकालीन हड़ताल पर प्रशासन और शासन की कड़ी नजर रही जहां हड़ताल पर उपस्थित मजदूर की वाजिब मांग पर शासन और प्रशासन के अधिकारियों ने हस्तक्षेप भी किया ताकि मामला आगे ना बढ़े और समय से हड़ताल किस्मत की कराई जा सके जिस पर भैयाथान अनुविभागीय अधिकारी सागर सिंह, तहसीलदार भटगांव शिव कुमार राठिया स्थानीय थाना प्रभारी भटगांव राजेंद्र साहू, अश्वनी पांडे, विवेक पटेल, पुरन राजवाड़े, करण नेताम, मनोज जायसवाल, संतोष जायसवाल, रजनीश पटेल, सुशील मिश्रा सहित अन्य शासन और प्रशासन के अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित रहे।

*सात दिवस के अंदर बनी सहमति पर नहीं हुई अमल तो पुनः होगी उग्र आंदोलन – मोहन प्रताप सिंह*

कोल माइंस ड्राइवर कल्याण संघ सरगुजा छत्तीसगढ़ के महासचिव मोहन प्रताप सिंह ने बताया कि संकेत द्वारा मजदूर हितों की रक्षा के लिए ट्रांसपोर्ट कंपनी से जिन-जिन बिंदुओं पर मांग रखी गई और जिन जिन बिंदुओं पर शासन और प्रशासन के अधिकारियों के समक्ष सहमति बनी और साथ दिवस के समय अवधि में बैठकर चर्चा कर पूरा करने का आश्वासन दिया गया है उसे बिंदु पर यदि निर्धारित समय पर कंपनी कोई ठोस कदम नहीं उठाती है तो आने वाले सात दिनों के बाद हम सभी मजदूरों के साथ कोल माइंस ड्राइवर कल्याण संघ सरगुजा छत्तीसगढ़ के बैनर तले पुनः उसी स्थान पर उग्र और अनिश्चितकालीन हड़ताल करने के लिए बाध्य रहेंगे जिसकी जवाब दे ही कंपनी खुद होगी क्योंकि अब की बात कंपनी और विभाग के पास इस विषय पर किसी प्रकार की सहमति और मान मनोबल की कोई गुंजाइश नहीं रह जाती।

कोल माइंस ड्राइवर कल्याण संघ सरगुजा छत्तीसगढ़ के बैनर तले हो रहे हड़ताल में संघ प्रमुख चंद्रशेखर यादव, कामेश्वर विश्वकर्मा, ज्ञानेंद्र विश्वकर्मा, विनोद बघेल, सुशील गुप्ता, जनक लाल, सिद्ध कुमार, राम राजवाड़े सहित संघ के सभी पदाधिकारी सहित लगभग 200 ड्राइवर, हेल्फर और अन्य मजदूर उपस्थित रहे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *