महिला एवं बाल विकास विभाग मंत्री लक्ष्मी राजवाड़े की उपस्थिति में प्रारंभ हुआ तीन दिवसीय योग शिविर ।

0 minutes, 0 seconds Read

सोनू कुमार चौधरी

महिला एवं बाल विकास विभाग मंत्री लक्ष्मी राजवाड़े की उपस्थिति में प्रारंभ हुआ तीन दिवसीय योग शिविर*

*मंडल अध्यक्ष युवा मोर्चा भटगांव राजू जायसवाल के नेतृत्व में युवा मोर्चा के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने दिया महत्वपूर्ण योगदान*

*सूरजपुर/भटगांव:–* शरीर और मन दोनों को सेहतमंद बनाए रखने के लिए नियमित रूप से दिनचर्या में योग आसनों को शामिल करके लाभ प्राप्त किया जा सकता है. योगासन, शरीर में ऊर्जा के स्तर को बढ़ावा देने के साथ मन को शांत करते हैं. ऐसे में यह कहा जा सकता है कि जीवन की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए योगासनों का नियमित अभ्यास आपके लिए काफी मददगार हो सकता है।

भटगांव नगर पंचायत स्थित शिव मंदिर प्रांगण में मंगलवार से तीन दिवसीय योगाभ्यास की शुभारंभ मुख्य अतिथि श्रीमती लक्ष्मी राजवाड़े (मंत्री महिला बाल विकास एवं समाज कल्याण विभाग, छ.ग. शासन), एम. एल. पाण्डेय सचिव छ.ग. योग आयोग, विशिष्ट अतिथि परमेश्वरी राजवाड़े प्रदेश मंत्री, भा.ज.पा. छ.ग., नूतन विश्वास जिला महामंत्री महिला मोर्चा सूरजपुर, सुभाष राजवाड़े मण्डल अध्यक्ष भाजपा भटगांव, मोहन शर्मा मण्डल अध्यक्ष भाजपा लटोरी, मार्तण्ड साहू मण्डल अध्यक्ष भाजपा भैयाथान की उपस्थिति में किया गया जो योगाभ्यास निशुल्क प्रवेश रहेगा. सुबह 6 से 8 बजे तक और शाम 5 से 7 बजे तक भटगांव शिव मंदिर प्रांगण में आकर एक्सपर्ट से योग की क्रियाएं सीख सकते हैं।

योग आयोग के प्रदेश सचिव एम. एल. पाण्डेय ने बताया कि योग में ऐसे आसनों का अभ्यास किया जाता है, जो हमे स्वस्थ रखते हैं। सही संरेखण और श्वास तकनीकों के यदि किया जाए तो हमें खतरनाक बीमारियों से बचाता है। योग में प्राणायाम और ध्यान अभ्यास हमें मानसिक दृढ़ता विकसित करने के साथ-साथ स्पष्टता, ध्यान और स्वयं को जीवन में आगे बढ़ाने में मदद करते हैं। किसी भी प्रकार के शारीरिक या मनोवैज्ञानिक आघात से उबरने के लिए योग का उपयोग करने की कुछ तकनीके है. योग के इस कल्याणकारी विज्ञान का उपयोग हम जीवन की किसी भी परीक्षा के लिए कर सकते हैं। इसमें मानसिक और शारीरिक रूप से तैयार होना अनिवार्य है। योग के लिए पूरी तरह तैयार होने के साथ यह भी जरूरी है कि आप इसका नियमित अभ्यास करें। अगर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर योगाभ्यास के बाद आप वापस उसी निष्क्रिय जीवनशैली में लौट रहे हैं, तो आप गलती कर रहे हैं। योग का नियमित अभ्यास आपके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए अनिवार्य है। योग हमारे शारीरिक और मानसिक दोनों पहलुओं को महत्वपूर्ण रूप से मजबूत करता है।

तीन दिवसीय योग शिविर के शुभारंभ के अवसर पर उपस्थित मुख्य अतिथि लक्ष्मी राजवाड़े ने कहा कि आज महिलाएं हर क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रही हैं, ऐसे में योग इनके शारीरिक और मानसिक संतुलन में बेहद महत्वपूर्ण है।बदलते सामाजिक परिवेश के बीच आज महिलाएं पहले की तुलना में कहीं अधिक महत्वाकांक्षी हो गई हैं वो चाहे बात अपने भविष्य की हो या फिर किसी और क्षेत्र की। आज महिलाओं की भूमिका उनकी पारंपरिक घरेलू महिलाओं या मां और बेटी की भूमिका से बिल्कुल अलग हो चुकी है। आज महिलाएं घर की चार दीवारी से निकलकर सामाजिक – आर्थिक और राजनीतिक जगत में लिए जा रहे फैसलों में बराबर की भूमिका अदा कर रही हैं। यद्यपि, महिलाओं की अपनी सभी भूमिकाओं का ठीक तरीके से निर्वहन करने के लिए ये जरूरी है कि उनका स्वास्थ्य अच्छा रहे, मानसिक तौर पर शांति हो और जीवन में संतुलन बना रहे। लेकिन, सवाल उठता है कि इन सभी चीजों को पूरा करने के लिए वह कौन सी एक चीज है? जाहिर तौर पर ये सब योग के चमत्कार से हो पूरा हो सकता है। जो लोग नियमित तौर पर योग करते हैं वो जरूर इसके फायदे के बाद इस बात से सहमत होंगे। प्रकृति के लिहाज से कई मायनों में महिलाओं की भूमिका आज पुरूषों से भी बढ़कर है। महिलाओं के लिए योग के महत्व की बात करें तो किशोरावस्था से लेकर मातृत्व, मीनुपाउज वाली उम्र से लेकर बुढ़ापे तक महिलाएं कई दौर से गुजरती है, जिसमें योग की खास भूमिका है। महिलाओं में शारीरिक बदलाव आने के बाद उसकी मानसिक परेशानी बढ़ सकती है और जीवन में असंतुलन आ सकता है। ऐसे में महिलाओं के जीवन के हर फेज में उनके लिए नियमति तौर पर योग से जहां शारीरिक तौर पर संतुलित बनाए रखता है तो वहीं इससे मानसिक तौर पर शांति भी मिलती है।

आयोजित नगर पंचायत भटगांव शिव मंदिर प्रांगण में तीन दिवसीय योग शिविर के शुभारंभ के अवसर पर भाजपा और युवा मोर्चा के समस्त पदाधिकारी, कार्यकर्ता के साथ शासन व प्रशासन के अधिकारियों सहित क्षेत्र के आम नागरिक उपस्थित रहे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *