आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद भी लग रहा है ग्रामीण सचिवालय ।

0 minutes, 0 seconds Read

सोनू कुमार चौधरी

आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद भी लग रहा है ग्रामीण सचिवालय ।

*सूरजपुर/:–* जिले में लोकसभा चुनाव के तहत आदर्श आचार संहिता लागू है जिसके बाउजूद में जिले के जनपद पंचायतों के अंतर्गत ग्रामीण सचिवालय लग रहे है जो समझ से परे है।

लोकसभा चुनाव के लिए मतदान की तिथि तय होने के साथ ही आदर्श आचार संहिता लागु हो चुकी है। निर्वाचन आयोग व आला अधिकारीयों ने अधिनस्थों को आचार संहिता का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए है लेकिन क्या इसका सही मायने में हो रहा है पालन जहा जिले के प्रत्येक ग्राम पंचायतों में लगातार लग रहा है ग्रामीण सचिवालय।

जिले के जनपद पंचायतों के अंतर्गत ग्राम पंचायत में आम जनता के समस्या के निदान के लिए ग्रामीण सचिवालय लगाया जाता है जहा ग्रामीणों के छोटी सी छोटी समस्याओं का निपटारा किया जाता है लेकिन आगामी लोकसभा चुनाव के लिए जिले में आदर्श आचार संहिता लागू है तो क्या आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद भी ग्राम पंचायतों के ग्रामीण सचिवालय लगाना उचित है जहा किसी ग्राम पंचायत के सचिवालय में दर्जनों तो किसी ग्राम पंचायत के सचिवालय में सैकड़ो की संख्या में ग्रामीण उपस्थित होते है और जनपद स्तर या फिर अन्य जिम्मेदार अधिकारी उपस्थित रहे है तो क्या ये आदर्श आचार संहिता का उलंघन नहीं है।

मालुम हो कि आदर्श आचार संहिता का शत प्रतिशत पालन कराने के लिए विभिन्न विभागों को जिम्मेदारी सौपी गई है। इसके तहत सरकारी सम्पति पर पार्टियों के होर्डिग, पोस्टर, बेनर व बाल पेंटिग नहीं की जा सकती निजि सम्पति मालिक की अनुमति मिलने पर ही उपरोक्त साम्रगी लगाई जा सकती हैं। ग्राम पंचायत के सचिव व रोजगार सहायक व समस्त कर्मचारी टीमों को बोर्ड पोस्टर बेनर होर्डिंग हटाने के कार्य में लगाया गया है तो आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद भी ग्राम पंचायतों में ग्रामीण सचिवालय लगाना आदर्श आचार संहिता का उलंघन कैसे नहीं।

*क्या कहते है प्रदेश संयोजक युवा कांग्रेस शांतनु सिंह*

आदर्श आचार संहिता को लागू होने के बाद भी आज प्रशासन वॉल पेंटिंग बैनर पोस्टर को हटाने पर गंभीर दिखाई नहीं दे रहा है आज भी जिले में बहुत संख्या में वॉल पेंटिंग बिना परमिशन के मौजूद हैं इसके अलावा ग्रामीण सचिवालय में ईसीआई के गाइडलाइन से परे जाकर प्रशासन काम कर रहा है जनपद मुख्यालयों में जिला अधिकारियों के मौजूदगी में सचिवों की बैठक आयुक्त की जा रही है जो कि सरासर ईसीआई गाइडलाइन का उल्लंघन है आज दिनांक 21/03/2024 को भैयाथान ब्लॉक मुख्यालय में जिला पंचायत सीईओ की अगवाई में साथियों की बैठक रखी गई थी जिसकी जानकारी मिलने के उपरांत आज कांग्रेस जिला अध्यक्ष के द्वारा इसमें आपत्ति करने पर उस बैठक को दूसरे रूप से आहत कराया गया जो कि खुले तौर पर आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है अगर जल्द ही प्रशासन इन प्रमुख बिंदुओं पर अपना रुख नहीं बदलता है तो युवक कांग्रेस प्रशासन के खिलाफ कड़ा विरोध दर्ज कराएगा।
*शांतनु सिंह, संयोजक युवा कांग्रेस छत्तीसगढ़ प्रदेश।*

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *