कोल माइंस ड्राइवर मजदूर कल्याण संघ द्वारा चेन्नई राधा इंजीनियरिंग प्राईवेट लिमिटेड कंपनी जगरनाथपुर के मनमानी के खिलाफ कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन।

कंपनी नियम विरुद्ध कर रहा है वर्करों की भर्ती जहा स्थानीय को महत्व न देकर बाहरी को दे रहा है विशेष महत्व।

यूनियन के द्वारा दो बार किया गया आंदोलन जहां सिर्फ अधिकारियों की उपस्थिति में मिला आश्वासन जो आज तक नहीं हुआ पूर्ण।

अनुविभागीय अधिकारी राजस्व प्रतापपुर के द्वारा दिए गए दिशा निर्देशों को भी कंपनी ने दिखाया ठेंगा।

कंपनी के वर्करों के पास नहीं है पीएमई, वीटीसी फिर भी कंपनी कैसे ले रहा है वर्करों की भर्ती और उनसे कार्य।

पूर्व में कोल माइंस ड्राइवर मजदूर कल्याण संघ छत्तीसगढ़ के द्वारा एसडीम प्रतापपुर, महाप्रबंधक एसईसीएल भटगांव क्षेत्र, एसईसीएल सबएरिया जगन्नाथपुर, जिला कलेक्टर सूरजपुर को मजदूर हितों के मांगों को लेकर सौंपा गया था ज्ञापन।


मोहन प्रताप सिंह

सूरजपुर/:– एसईसीएल भटगांव जगरनाथपुर ओपन कास्ट परियोजना में कार्यरत आउटसोर्सिंग कंपनी चेन्नई राधा इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी के द्वारा छोटी गाड़ी के वाहन चालक, हेल्फर कर्मचारी और सुपरवाइजर के जीवन से खिलवाड़ कर रही है। कंपनी के द्वारा कोयला उत्खनन एवं मिट्टी उत्खनन का कार्य किया जा रहा है, तथा उक्त ठेका कंपनी में वाहन चालक, हेल्फर और सुपरवाइजर से माईनिंग कार्य लिया जा रहा है, परन्तु केंद्र सरकार से अधीन कोल इण्डियन लिमिटेड के तय नियम वह निर्देशों का पालन नहीं किया जा रहा है ठेका वर्करो को हाई पवार कमेटी द्वारा निर्धारित पीएमई, वीट सी सुविधा नहीं दिया जा रहा है साथ में मेडिकल/सीएमपीएफ/ईपीसी सेफ्टी उपकरण पेमेंट स्लिप नहीं दिया जा रहा है साथ ही कंपनी के द्वारा स्थानीय मजदूरों को महत्व न देते हुए बाहरी मजदूरों को भर्ती करने में विशेष महत्व दिया जा रहा है जिनका कंपनी के द्वारा बाहर से (अन्य जिला और राज्य) आय हुए मजबूरो का पुलिस वेरिफिकेशन कराए बिना ही भर्ती किया जा रहा है जो कि सरासर गलत है वही बहुत से मजदूरों को नगद भुगतान किया जा रहा है जो पूर्ण गलत है इन सभी समस्याओ को लेकर संघ के द्वारा लिखित रूप से आवेदन प्रेषित कर विभिन मागो को पूर्ण करने का आग्रह किया जा रहा है।

जिला सूरजपुर के अंतर्गत एसईसीएल जगरनाथपुर परियोजना में कार्यरत आउटसोर्सिंग कंपनी चेन्नई राधा इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में सभी कार्यरत वाहन चालक एवं हेल्फर, सुपरवाइजर की सूची नाम/पता एवं नंबर सहित एवं निर्धारित दिवस के भीतर मजदूरी (एचपीसी) दर से भुगतान किया जाए जिसकी मांग स्वरूप पूर्व में जिला कलेक्टर सूरजपुर, अनुविभागीय अधिकारी प्रतापपुर, तहसीलदार प्रतापपुर, पुलिस अधिक्षक सूरजपुर, महाप्रबंधक एसईसीएल भटगांव, सबएरिया एसईसीएल जगरनाथपुर वही मांग पूरी न होने के कारण 15/11/2023 को अनिश्चितकालीन हड़ताल भी किया गया जहां अनुविभागीय अधिकारी प्रतापपुर और नायब तहसीलदार की उपस्थिति में सभी बिंदुओं पर विचार करते हुए 10 दिनों के अंदर मांग पूरी करने के विषय में आश्वासन दिया गया जो आश्वासन दिवस तक मांग की पूरी नहीं की गई जहां संगठन के द्वारा दोबारा अनिश्चितकालीन हड़ताल करने के लिए 31/12/2023 संबंधित विभागों में आवेदन देकर निश्चित किया गया जहां आश्वासन स्वरूप दोबारा सभी कार्य पूरी किए जाने को लेकर आश्वासन दिया गया और अनुविभागीय अधिकारी प्रतापपुर की उपस्थिति में कंपनी सहित एसईसीएल के अधिकारियों के समक्ष बैठक हुई जहां कई बिंदुओं पर सहमति बनी और मांग पूरी करने के लिए निर्देशित किया गया लेकिन आश्वासन आज तक आश्वासन ही रहा और एक भी मांग पूरी नहीं की गई जहा कंपनी के द्वारा लगातार गलत तरीके से कार्य किया जा रहा है जो मजदूर हितों के लिए सही नहीं है।

एसईसीएल भटगांव क्षेत्र अंतर्गत जगरनाथपुर ओसीएम परियोजना में कार्यरत आउटसोर्सिंग कंपनी चेन्नई राधा इंजीनियरिंग वर्कशॉप प्राइवेट लिमिटेड कंपनी चला रहा है अपना मनमानी जहां नियम विरुद्ध वाहन चालकों की भर्ती कर रहा है जो ना तो पीएमई किए है और ना ही वीटीसी किए हुए है ऐसी स्थिति में वाहन चालक यदि किसी गंभीर दुर्घटना के शिकार होते हैं तो इन्हें और उनके परिवार को क्या किसी प्रकार की सहायता प्राप्त हो पाएगी जो कंपनी के द्वारा प्राप्त होती है।

कंपनी किसी भी प्रकार के नियम शर्तों का नहीं कर रहा है पालन

भटगांव एसईसीएल क्षेत्र अंतर्गत जगरनाथपुर परियोजना में कार्यरत आउटसोर्सिंग कंपनी चेन्नई राधा इंजीनियरिंग वर्कशॉप प्राइवेट लिमिटेड के द्वारा कोयला एवं मिट्टी उत्खनन का कार्य किया जा रहा है। उक्त ठेका कंपनी में वाहन चालक एवं हेल्फर से माईनिंग कार्य लिया जा रहा है जो केंद्र सरकार से अधीन कोल इण्डियन लिमिटेड के द्वारा किसी भी प्रकार के नियम और शर्तों का पालन नहीं किया जा रहा है जो कहीं ना कहीं वाहन चालकों के जीवन से खिलवाड़ कर रहा है।

कंपनी हाई पावर कमेटी द्वारा निर्धारित सुविधा को दिखा रहा है ठेंगा

चेन्नई राधा इंजीनियरिंग वर्कशॉप प्राइवेट लिमिटेड ठेका वर्करो को हाई पावर कमेटी द्वारा निर्धारित पीएमई, वी टीसी जैसी सुविधा नहीं दे रहा है साथ में मेडिकल/सीएमपीई/ईपीसी सेफ्टी उपकरण पेमेंट स्लिप भी नहीं दे रहा है वहीं अधिकांश मजदूरों को नगद भुगतान किया जा रहा है जो पूरी तरह गलत है।

लोकल मजदूरों को प्राथमिकता ना देकर बाहरी को दिया जा रहा है महत्व

चेन्नई राधा इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के द्वारा स्थानीय मजदूरों को महत्व न देते हुए बाहरी जिले व अन्य राज्यों से आए हुए मजदूरों को भर्ती करने में विशेष रुचि दिखाई दी जा रही है जिससे स्थानीय मजदूरों में रोष व्याप्त है जबकि किसी भी कंपनी में स्थानीय मजदूरों को विशेष महत्व देना होता है वही यह कंपनी बाहर से आए हुए मजदूर का नियमों के दायरे में भर्ती कर रही है और न ही उनका पुलिस वेरिफिकेशन कराने में किसी प्रकार का रुचि दिखा रहा है यू कही चेन्नई राधा इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड कंपनी जगरनाथपुर मनमानी का दुकान खोल कर रखी है जो किसी भी विभागीय अधिकारियों के द्वारा दिए गए दिशा निर्देशों को मनना तो दूर उन्हे ठेका दिखाने से बाज नहीं आ रही है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *